Header Ads

AAP TAK NEWS :: एक महिला की हत्या का मामला छुपाने के लिए शख्स ने 9 और लोगों को मार कर कुएं में फेंका #

 ## एक महिला की हत्या कर उसका मामला छुपाने के लिए शख्स ने 9 और लोगों भी मार डाला. जिसमें  6 लोग उसके परिवार के हैं और बाकी 3 परिवार के बाहर से हैं!
                                                                
         
                                          

                                            नई दिल्ली : एक महिला की हत्या कर उसका मामला छुपाने के लिए शख्स ने 9 और लोगों भी मार डाला. जिसमें  6 लोग उसके परिवार के हैं और बाकी 3 परिवार के बाहर से हैं. मृतकों में एक शख्स बिहार और एक त्रिपुरा का रहने वाला था. हैरान कर देनी वाली ये घटना तेलंगाना के वारंगल में हुई है जहां संजय कुमार यादव (24) नाम के शख्स को इस मामले में गिरफ्तार किया गया है. इन सभी 9 लोगों की लाशें एक कुएं से बरामद की गई हैं. 
                                                        
             
                                          
                                                                                                                    मिली जानकारी के मुताबिक संजय ने इन लोगों के खाने में नींद की गोलियां मिला दी थीं और फिर इनको कुएं में फेंक आया था. वारंगल के पुलिस कमिश्नर ने बताया कि परिवार की ही एक महिला मार्च से गायब थी जिसकी उसने हत्या कर दी थी. इस बात को छिपाने के लिए शख्स ने इन9लोगोंको मार डाला. संजय उस महिला को कथित रूप से 6 मार्च को मार डाला था. 

एक ही परिवार के जिन 6 लोगों को मारा गया है उनके नाम मकसूद, उसकी पत्नी, दो बच्चे, बेटी बुशरा, उसका तीन साल का बेटा है. इन सभी की लाशें बाकी तीन लोगों के साथ पाई थीं. मकसूद 20 साल पहले ही पश्चिम बंगाल से वारंगल आए थे. मकसूद जिस फैक्टरी में काम करते थे उसी में ही दो कमरे एक मकान में परिवार के साथ रहते थे. मकसूद की पत्नी ने संजय यादव को गायब हुई महिला के मामले में धमकी दी थी कि वह पुलिस से इसकी शिकायत करेगी. संजय भी बिहार का ही रहने वाला था. 

जब इन सभी की लाशें कुएं से मिलीं तो पहले इसे परिवार के साथ आत्महत्या का केस माना गया. लेकिन बाद में शरीर से कुछ निशान पाए गए. इसके बाद पुलिस ने जांच शुरू की. जिसमें संजय यादव ने अपना जुर्म कबूल कर लिया.
                                                   
                                                               
                                                                      www.aaptak.net 

No comments