Header Ads

AAP TAK NEWS :घर लौट रहे मजदूरों के हैं बुरे हाल, दुधमुंहों को पिलाने के लिए दूध नहीं तो पानी में भिगोकर दे रहे बिस्किट-ब्रेड @@



                                     कई मजदूर तंगहाली के चलते परिवार के साथ पैदल ही लौट रहे हैं. हालत यह है कि इनमें से कई के साथ छोटे-छोटे बच्‍चे भी हैं लेकिन दुधमुंहे बच्‍चों को दूध भी नसीब नहीं हो रहा
                                     
                                   कोरोना वायरस की महामारी में पूरी दुनिया को थाम दिया है. कोरोना वायरस की प्रकोप के कारण काम-धंधे ठप पड़े हुए हैं. सबसे ज्‍यादा परेशानी उन प्रवासी मजदूरों को हो रही है जिनकी रोजीरोटी इस महामारी ने छीन ली है. लगभग रोज कमाकर अपना जीवन यापन करने वाले प्रवासी मजदूर काम की तलाश में महानगरों में पहुंचे थे लेकिन काम न होने के कारण अब बदहाल स्थिति में घर लौटने को मजबूर हैं. इनमें से कई तो तंगहाली के चलते परिवार के साथ पैदल ही लौट रहे हैं. हालत यह है कि इनमें से कई के साथ छोटे-छोटे बच्‍चे भी हैं लेकिन दुधमुंहे बच्‍चों को दूध भी नसीब नहीं हो रहा. .....
         

                                                    भोपाल के करीब विदिशा हाई-वे में ..कोई पैदल जा रहा है, कोई ऑटो में कोई साइकिल से तो कोई यूं ही ट्रक में भरकर. जिसे जो साधन मिल रहा है, उससे लौट रहा है.कई के पास बच्‍चों के लिए दूध और खाना भी नहीं है.. फिर भी चले जा रहे हैं 


                                                                           www.aaptak.net

No comments