Header Ads

AAP TAK NEWS : पटना में फूटा कोरोना बम, एक ही परिवार के 4 समेत 6 पॉजिटिव, कुल 312 मरीज हुए##


                                                       
                                               
                                       
                                                                  कोरोना वायरस का कहर पूरे बिहार में जारी है। राजधानी पटना में रविवार को कोरोना विस्फोट हुआ और एक ही परिवार के चार लोग कोविड-19 पॉजिटिव पाए गए। पटना में एक ही परिवार के चार समेत कुल छह कोरोना से संक्रमित मिले। इस तरह से जिले में अब कोरोना वायरस से संक्रमितों की कुल संख्या 312 हो गई है।

     दरअसल, कोरोना संक्रमित पाया गया परिवार पटना के दनियावां का है, जबकि एक बिहटा और एक कुम्हरार का है। बताया जा रहा है कि दनियावां में जो एक ही परिवार के चार लोग संक्रमित हुए हैं, वे अपने एक रिश्तेदार की मौत होने के बाद उनके श्राद्धकर्म में शामिल होने कोलकाता गए थे। ये सभी जिसके श्राद्धकर्म में गए थे, उसकी मौत कोरोना के कारण ही हुई थी। परिवार में संक्रमित होनेवाले में दो पुरुष और दो महिला हैं। दोनों संक्रमित पुरुषों में एक की उम्र 23 साल जबकि दूसरे की 12 साल है। वहीं संक्रमित महिला में से एक की उम्र 44 साल जबकि दूसरे की उम्र 18 साल है।
                                                                           
                                               सिविल सर्जन ने बताया कि कोलकाता से परिवार गुरुवार को लौटा था। उनमें से 12 वर्षीय बच्चे को पीलिया हो गया था। उसका इलाज कराने ये लोग पटना सिटी के गुरु गोविंद सिंह अस्पताल में आए थ। वहीं ट्रेवल हिस्ट्री और यात्रा के कारणों की जानकारी होने पर डॉक्टरों ने कोरोना जांच के लिए सभी सदस्यों का सैंपल लिया। रविवार को आई रिपोर्ट में चारों कोरोना पॉजिटिव मिले। 12 वर्षीय बच्चे को एनएमसीएच में जबकि परिवार के तीन अन्य सदस्यों को पाटलिपुत्रा स्पोर्ट्स कॉप्लेक्स में आइसोलेशन में रखा गया है।
                                                             
         वहीं, बिहटा का संक्रमित 36 वर्षीय व्यक्ति पिछले सप्ताह दिल्ली से लौटा था। वहां से आने  के बाद उसकी तबीयत कुछ खराब हो गई। उसे सर्दी-खांसी और सांस लेने में तकलीफ हो गई। बाद में जांच में वह भी कोरोना संक्रमित निकला। कुम्हरार का 24 वर्षीय युवक भी कोरोना संक्रमित निकला। युवक एनएमसीएच में इलाज कराने गया था। वहां उसक सैंपल लिया गया। इसमें वह पॉजिटिव निकला।  
                                                                 
                           
                                           
                                   
                                                                    रविवार से पटना जिले में प्रवासी मजदूरों के लिए बने क्वारंटाइन सेंटरों को बंद कर दिया गया है। बाहर से आनेवाले प्रवासी मजूदरों के क्वारंटाइन का समय पूरा होने के बाद सरकार द्वारा इन सेंटरों को बंद करने का निर्णय लिया गया था। अब बाहर से आनेवाले सभी लोग सीधे अपने गांव जाएंगे और अपने घर में ही आइसोलेशन में रहेंगे। ऐसे लोगों के स्वास्थ्य पर सिविल सर्जन की टीम नजर रखेगी। इस टीम में आशा कार्यकर्ता, जीविका दीदियां और ग्राम-पंचायत के प्रतिनिधियों के अलावा टेक्नीशियन और पारा मेडिकल स्टाफ शामिल हैं। सिविल सर्जन ने बताया कि ये लोग गांव-गांव में बाहर से आए लोगों के बारे में जानकारी एकत्रित करेंगे। कहीं से भी किसी के बीमार होने की सूचना मिलेगी तो उनका सैंपल लेकर उसे जांच के लिए भेजा जाएगा। इसके लिए स्थानीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों की भी मदद ली जा रही है।
                                                                             
                                                           www.aaptak.net

No comments