Header Ads

AAP TAK NEWS : भारत-चीन सीमा पर शहीद वीर सैनिकों के शहादत की याद में वैश्य महासभा द्वारा निकाला गया आक्रोश मार्च ।

                                                       

                                         
                                                                    छपरा। सारण जिला राष्ट्रीय वैश्य महासभा, छपरा के तत्वधान में विगत दिनों पूर्वी लद्दाख की गलवन घाटी में षड्यंत्र करके धोखे से चीनी सेना द्वारा 20 भारतीय जवानों को खूनी झड़प में मौत की नींद सुलाने के खिलाफ एक श्रद्धांजलि सभा शहर के नगरपालिका चौक पर की गई। बैनर पोस्टर के साथ एक आक्रोश मार्च भी निकाला गया। इसमें शहर के जाने-माने बुद्धिजीवी वैश्य बंधुओं ने हिस्सा लिया और चीन विरोधी नारे लगाएं। उपस्थित लोगों के बीच महासभा के अध्यक्ष वीरेंद्र साह मुखिया ने कहा कि चाइना का चरित्र शुरू से ही धोखेबाज का रहा है और वह हमेशा भारत के साथ मन में छल और शत्रुता रखते आया है। यही कारण है कि दोनों देशों के उच्च सैनिक व कूटनीतिक समझौते के अनुसार दोनों देशों की सेनाओं को अपनी अपनी सीमा में लौटने की बात कह कर भी चीनी सेना के मुकरने तथा चीनी सीमा में नहीं लौटने और भारतीय सैनिकों के अपनी सीमा में लौट आने तथा बाद में लौटकर चीनी सेना की गतिविधि जांचने-परखने हेतु आने पर चीनी सेना द्वारा खूनी झड़प करके 20 भारतीय जवानों को  मार डालने के खिलाफ पूरा देश आंदोलित एवं आक्रोशित है। आज पूरा देश शहीदों के शहादत से शोकाकुल एवं मर्माहत है और मातृभूमि की रक्षा करने तथा चीनी सेना से बदला लेने के लिए अपने यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के साथ खड़ा है। महासचिव छठीलाल प्रसाद ने कहा कि चीनी उत्पादों का बहिष्कार आज के परिवेश में करना समय की मांग है ताकि चीनी अर्थव्यवस्था का ह्रास हो। आक्रोश मार्च  "चीनी उत्पादों का बहिष्कार कीजिए,शहीद सैनिकों को श्रद्धांजलि दीजिए", "चीनी उत्पादों से तोड़ो नाता,गर्व से कहो जय भारत माता", शहीद सैनिकों का सम्मान बढ़ाओ,चाइनीज त्यागो स्वदेशी अपनाओ"आदि नारों के साथ थाना चौक होते हुए नगर पालिका चौक छपरा पर आकर समाप्त हुआ।                              
                                         

                                          
                                                         इस आक्रोश मार्च में वीरेंद्र साह मुखिया, छठीलाल प्रसाद, डॉ हरिओम प्रसाद, कन्हैया कुमार, राम नारायण साह, डॉक्टर इन्द्रकान्त बबलू ,इंजीनियर संतोष कुमार, ओम प्रकाश गुप्ता स्वर्णकार, वैद्यनाथ गुप्ता, ब्रह्म देव नारायण ज्ञानी, राजेश फैशन, आदित्य अग्रवाल,चंदन प्रसाद ब्याहुत, शशि भूषण गुप्ता, अजय प्रसाद एलआईसी, छात्र नेता पवन गुप्ता, अनिल कुमार सूढ़ी, गुड्डू कुमार,पूर्व वार्ड पार्षद जयचंद प्रसाद, अनिल कुमार, विशाल कुमार, इंजीनियर शंभू  प्रसाद, अनिल कुमार, राजेश कुमार बम, मनसा लक्ष्मण साह, महेश जी,उपेंद्र कुमार, मुकेश कुमार,पंचम साह, शंभूनाथ प्रसाद, लाला हर्षित, राजा बाबू , अमित गोल्ड आदि शामिल थे।
                                                              
                                                                      www.aaptak.net

No comments