Header Ads

AAP TAK NEWS :LOVE सेक्स और धोखा पटना की लेडी डॉन ने फिल्मी अंदाज में दी रेलवे ठेकेदार को मौत ## www.aaptak.net

                                                              

                               
                                           राजधानी PATNA में एक रेलवे ठेकेदार को पैसे के लिए अपने हुस्न के जाल में फंसाकर महिला ने मौत के घाट उतार डाला। पुलिस ने आरोपी महिला समेत हत्या में शामिल 3 अन्य आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।
                                                    
                              
                                 
                                                       PATNA राजधानी के बख्तियारपुर में एक महिला ने रेलवे ठेकेदार फलेंद्र को हुस्न के जाल में फंसाकर मौत के घाट उतार डाला। पुलिस ने इस लेडी डॉन आभा कुमारी को गिरफ्तार कर लिया है। आभा ने इस वारदात को 4 जुलाई 2019 की रात अंजाम दिया था। पुलिस को कूख्यात आभा कुमार के पास से ठेकेदार का फोन भी बरामद किया। पुलिस के हत्थे इस हत्या की वारदात को अंजाम देने वाले आभा के तीन आशिक भी चढ़ गए हैं।

                                                                थानाध्यक्ष कमलेश प्रसाद शर्मा ने बताया कि पुलिस को तफ्तीश में मालूम हुआ कि इस हत्याकांड को अंजाम देने में मुख्य किरदार आभा कुमारी ने निभाया। आभा के फलेंद्र के साथ कई अन्य मर्दों के साथ भी अवैध संबंध थे। फलेंद्र किराए के मकान में अकेले रहते थे। पैसे के लालच में आभा अक्सर फ्लैट पर पहुंच जाती। आभा की चाहत थी कि प्यार के जाल में फंसाकर फलेंद्र से मोटी रकम लूटकर हमेशा के लिए उसे अपने रास्ते से हटा दे।
                                          
             
                              
                                                           आभा को तलाश थी कि कब फलेंद्र मोटी रकम घर पर लाएगा। दरअसल मजदूरों को पेमेंट देने के लिए अक्सर वह घर पर कई बार ज्यादा संख्या में पैसे लाता जिसपर आभा की नजर पड़ती रहती। उन्हीं रुपयों के खातिर पिछली साल 3 जुलाई की रात अपने तीन दोस्त रौशन, अमित और जुगनू की मदद से ठेकेदार को मौत के घाट उतार दिया। और उसके शव को हाइवे किनारे फेंककर फरार हो गई जो अब पुलिस के हत्थे चढ़ गई।
                                                                 
                                                           www.aaptak.net

No comments