Header Ads

AAP TAK NEWS :4 सितंबर को काला दिवस मनाएंगे प्राइवेट स्कूल के शिक्षक व संचालक प्राइवेट स्कूलों के संगठन ने बैठक कर लिए कई निर्णय चरणबद्ध आंदोलन की तैयारी शैक्षणिक संस्थानों ने सप्ताह में प्रतिदिन एक कक्षा के संचालन की अनुमति मांगी छपरा।

                                                                            

 सारण
              प्रोग्रेसिव प्राइवेट स्कूल ऑर्गेनाइजेशन एवं किड्स वेलफेयर ट्रस्ट की बैठक जेपी सेनानी सियाराम सिंह की अध्यक्षता में संपन्न हुई । शहर के एसएसपी सेंट्रल स्कूल में आयोजित इस बैठक में कई बिंदुओं पर निर्णय लिया गया । इनमें मुख्य रूप से 4 सितंबर को सभी जिले के सभी प्राइवेट स्कूलों के संचालकों,शिक्षकों,निर्देशकों से आग्रह किया गया कि वे अपने स्कूल परिसर में ही काला पट्टी बांधकर सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करेंगे और काला दिवस मनाएंगे । 
                                                                       
                                         शिक्षक नेताओं व शिक्षकों ने कहा कि सरकार प्राइवेट स्कूलों व उसमें काम करने वाले कर्मियों के बारे में नहीं सोच रही है और इस वजह से कई लोग मौत के मुंह में समाते जा रहे हैं । आर्थिक तंगी के कारण कई लोगों ने अपनी जान दे दी है बावजूद सरकार के कानों पर जूं तक नहीं रेंग रही है। शिक्षक नेताओं ने सरकार से अपील की है कि सरकार पहले आर्थिक पैकेज दे।
                                                                                    

                                           यदि आर्थिक पैकेज नहीं देती है तो चरणबद्ध आंदोलन शुरू कर दिया जाएगा। शिक्षक नेताओं ने कहा कि केवल प्राइवेट स्कूलों के लिए ही कोरोना वायरस है। यातायात से लेकर  तमाम बाजार , मॉल, सिनेमा हॉल समेत तमाम चीजें खुल गई हैं। और केवल स्कूल कॉलेजों को ही नहीं खोला जा रहा है। शिक्षण प्रशिक्षण संस्थान भी बंद है । सरकार अविलंब निर्णय ले और इन्हें खोले। स्कूलों को प्रतिदिन एक कक्षा संचालन की भी अनुमति दी जा सकती है। सरकार चाहे तो इस पर अमल कर सकती है। बैठक में भाग लेने वालों में दीनदयाल यादव, संजय कुमार,  जमाल हैदर, बबलू कुमार, एसपी चौरसिया, धीरज कुमार पाठक, सुलेखा पांडे, महफूज आलम, जयप्रकाश सिंह समेत दर्जनों प्रचाय, निर्देशक और शिक्षक उपस्थित थे।
                                                                    www.aaptak.net

No comments