Header Ads

AAP TAK NEWS :भूतपूर्व राष्ट्रपति स्वर्गीय प्रणब मुखर्जी के निधन पर श्रद्धांजलि सभा का हुआ आयोजन।

                                                                          

                                         सारण जिला राष्ट्रीय वैश्य महासभा छपरा ने भारतीय राजनीति के अजातशत्रु बनकर अनेकों मूर्धन्य पदों को सुशोभित करने वाले भारतरत्न राजनेता एवं भूतपूर्व 13वें राष्ट्रपति स्वर्गीय प्रणब मुखर्जी के निधन पर मौना कश्मीरी हाता परिसर, छपरा में एक श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया। जिसमें शहर के अनेकों गणमान्य प्रबुद्ध वैश्यजनों ने हिस्सा लिया। इस श्रद्धांजलि सभा में अध्यक्ष वीरेंद्र साह मुखिया ने स्वर्गीय मुखर्जी को बहुआयामी व्यक्तित्व के धनी एवं कुशाग्र बुद्धि का चाणक्य बताया और कहा कि उनके निधन से देश ने एक बहुमूल्य रत्न खो दिया है। महासचिव छठीलाल प्रसाद ने उन्हें एक सच्चे अर्थ में संत राजनेता माना जिन्होंने कभी भी पार्टी हित से ऊपर देशहित को समझा और राष्ट्रपति बनकर अनेकों ऐसे निर्णय लिए जो भारतीय राजनीतिक इतिहास में सदैव स्मरणीय रहेंगे। 
                                                                         

              प्रवक्ता आदित्य अग्रवाल में अपने श्रद्धांजलि संबोधन में उन्हें एक सच्चा राष्ट्रभक्त और लिविंग इनसाइक्लोपीडिया बताया जिन्हें भारतीय एवं विश्व राजनीति की अभूतपूर्व समझ व स्मरण शक्ति थी तथा अपनी कुशाग्र बुद्धि के कारण अनेक मौकों पर राष्ट्रहित में ऐसा फैसला भी उन्होंने लिया जो उनकी पार्टी के चिरपरिचित विचारधारा के विपरीत थे । राम नारायण साह ने उन्हें एक ऐसा राष्ट्रपुरुष के रूप में याद किया जिनकी आत्मा बहुलवाद और पंथनिरपेक्षवाद में बसती थी। 
                                                                                

                                                                              इस श्रद्धांजलि सभा में डॉ राजेश डाबर, सुनील कुमार गुप्ता, कन्हैया कुमार, आर एन साह, राजा बाबू, उपेंद्र कुमार, , निखिल कुमार गुप्ता, संतोष कुमार ब्याहुत , महेश प्रसाद आदि उपस्थित थे। सभा के अंत में उनकी आत्मा की शांति हेतु 2 मिनट का मौन रखकर सभा का विसर्जन किया गया।
                                                             www.aaptak.net

No comments