Header Ads

Aaptak.net:नीतीश कुमार जेडीयू के 6 मंत्री पीछे,तीन पर आरजेडी,दो पर कांग्रेस, एक पर एलजेपी आगे

                                                                               

bihar बिहार विधानसभा चुनाव की 243 सीटों पर 3737 प्रत्याशी मैदान में है,जहां वोटों की गिनती आज हो रही है.ऐसे में नीतीश सरकार के 31 मंत्रियों में 26 विधानसभा के सदस्य हैं,जिनमें से 24 मंत्री किस्मत आजमाने मैदान में उतरे हैं. बिहार सरकार के दो दर्जन मंत्रियों में से 14 मंत्री जेडीयू कोटे से हैं जबकि 10 मंत्री बीजेपी कोटे के हैं.विधानसभा अध्यक्ष  विजय कुमार चौधरी की भी साख दांव पर लगी है. इसके अलावा दिवंगत मंत्री विनोद सिंह की पत्नी निशा सिंह प्राणपुर में बीजेपी के टिकट पर हैं जबकि दिवंगत मंत्री कपिलदेव कामत की बहू मीना कामत बाबूबरही से जेडीयू की प्रत्याशी हैं. नीतीश सरकार के इन मंत्रियों को महागठबंधन से कड़ी चुनौती मिल रही है. 
                                                                          

जेडीयू कोटे के 14 मंत्री की साख दांव पर 
दिनारा: जय सिंह पीछे चल रहे हैं
दिनारा विधानसभा सीट से नीतीश सरकार  के सहकारिता मंत्री जय सिंह मैदान में है जबकि RJD आरजेडी से विजय मंडल यहां से प्रत्याशी हैं. बीजेपी के प्रदेश उपाध्यक्ष और संघ प्रचारक रहे राजेंद्र सिंह ने एलजेपी से टिकट पर है. 2015 के विधानसभा चुनाव में जेडीयू-आरजेडी साथ थे, लेकिन जय सिंह को यहां से जीतने में पसीने छूट गए थे. जेडीयू के जय कुमार सिंह महज 2691 मतों से जीते थे.
दिनारा सीट पर एलजेपी के राजेंद्र सिंह आगे चल रहे हैं और आरजेपी के प्रत्याशी विजय मंडल दूसरे नंबर पर चल रहे हैं जबकि जय सिंह तीसरे नंबर पर चल रहे हैं. 
जहानाबाद: कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा; पीछे 
जहानाबाद विधानसभा सीट हाई प्रोफाइल मानी जाती है. यहां से नीतीश सरकार शिक्षा मंत्री और जेडीयू नेता कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा चुनावी मैदान में उतरे हैं. वर्मा 2015 में घोसी सीट से चुनाव मैदान थे और जीत दर्ज कर विधानसभा पहुंचे थे. हालांकि, इस बार उन्होंने सीट बदल दी है और जहानाबाद से मैदान में है, जिनके खिलाफ आरजेडी से कुमार कृष्ण मोहन उर्फ सुदय यादव और  एलजेपी प्रत्याशी इंदु देवी कश्यप किस्मत आजमा रहे हैं. 2015 में जहानाबाद से सुदय यादव के पिता मुद्रिका सिंह यादव ने जीत दर्ज की थी, लेकिन डेंगू के चलते उनका निधन हो गया है. इसके बाद सुदय यादव यहां से उपचुनाव में विधायक चुने गए हैं.  आरजेडी प्रत्याशी सुदय यादव आगे चल रहे हैं
                                                                          

जमालपुर: शैलेश कुमार
जमालपुर विधानसभा सीट पर बिहार सरकार मंत्री और जेडीयू नेता ग्रामीण कार्य मंत्री शैलेश कुमार मैदान में हैं. इस बार महागठबंधन से यहां कांग्रेस के डॉ अजय कुमार सिंह हैं. एलजेपी से दुर्गेश कुमार सिंह किस्मत आजमा रहे हैं.  शैलेश कुमार 2015 और 2010 का विधानसभा चुनाव एलजेपी को को हरा कर जीते हैं. शैलेष के सामने लगातार चौथी बार सीट निकालने की चुनौती है.
                                                                             

                                
राजपुर: संतोष कुमार निराला, पीछे 
बक्सर जिले की राजपुर विधानसभा (सुरक्षित) सीट से नीतीश सरकार के परिवहन मंत्री संतोष कुमार निराला मैदान में है. जेडीयू नेता संतोष कुमार निराला लगातार दो बार चुनाव जीत चुके हैं.  वहीं, कांग्रेस के टिकट पर विश्वनाथ राम और एलजेपी से निर्भय कुमार निराला की साख दांव पर है.
कांग्रेस प्रत्याशी आगे चल रहे हैं
नालंदा: श्रवण कुमार आगे हैं
नालंदा सीट से जेडीयू विधायक और ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार किस्मत आजमा रहे हैं, जिनके खिलाफ कांग्रेस के गुंजन पटेल, एलजेपी के रामकेश्वर प्रसाद और आरएलएसपी के सोनू कुमार मैदान में हैं. कांग्रेस प्रत्याशी गुंजन पटे आगे 
हथुआ: रामसेवक सिंह पीछे चल रहे 
हथुआ जेडीयू नेता और राज्यमंत्री रामसेवक सिंह से चुनाव मैदान में हैं. वहीं, आरजेडी से  राजेश सिंह कुशवाहा और एलजेपी के रामदर्शन प्रसाद उर्फ मुन्ना किन्नर किस्मत आजमा रहे हैं. रामसेवक लगातार दो बार यहां से जीत दर्ज कर रहे हैं और तीसरी बार मैदान में हैं. यहा से आरजेडी प्रत्याशी रुझानों में दो हजार मतों से आगे चल रहे हैं. 
सुपौल: बिजेंद्र प्रसाद यादव आगे चल रहे 
सुपौल विधानसभा सीट से ऊर्जा मंत्री और जोडीयू के वरिष्ठ नेता बिजेंद्र प्रसाद यादव  आठवीं बार विधायक बनने के लिए मैदान में हैं. महागठबंधन की ओर से कांग्रेस के टिकट पर मिन्नतुल्लाह रहमानी उन्हें टक्कर दे रहे हैं. वहीं एलजेपी ने प्रभास चंद्र मंडल को यहां से उतारा है. बिजेंद्र प्रसाद इस सीट से साल 1990 से लगातार जीतते आ रहे हैं. जेडीयू प्रत्याशी बिजेंद्र यादव चार हजार से आगे चल रहे
$ aaptak.net
○ https://g.page/modern-home-way

No comments