Header Ads

Aaptak.net:रूपेश सिंह हत्याकांड-करीब 200 लोगों से हो चुकी है पूछताछ फिर भी पुलिस के हाथ खाली!

                                                                            

 पटना का चर्चित हाई प्रोफाइल मर्डर मिस्ट्री में पटना पुलिस का हाथ तक खाली है लेकिन सीएम नीतीश कुमार नाराजगी को देखते हुए पटना पुलिस एसआईटी से लेकर एसटीएफ की विशेष जांच टीम अपराधियों का सुराग लगाने के लिए हर पहलुओं पर जांच कर आगे बढ़ रही है!
                                                                            

 इस हत्याकांड को प्रेम प्रसंग समाज सेवा टिंडर विवाद बातों को ध्यान में रखते हुए पुलिस जांच में जुटी हुई है बता दें कि मंगलवार की शाम दुस्साहस अपराधियों ने सीएम हाउस राज भवन एवं सचिवालय में महज एक डेढ़ किलो मीटर की परिधि में पटना के शास्त्री नगर थाना क्षेत्र के पुणे के बलदेव भवन के पास स्थित इंडिगो एयरलाइंस स्टेशन मैनेजर रूपेश सिंह की अपार्टमेंट कुसुंबा के नीचे तक गोली मारकर हत्या कर दी गई हालांकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट  मेंनाराज सीएम नीतीश कुमार ने बुधवार को डीजीपी से अपराध रोकने को को काबू करने का निर्देश दिया है!रुपेश की हत्या को लेकर पुलिस की विशेष जांच टीम को प्रदेश के बेगूसराय से यूपी के गाजीपुर तक कनेक्शन जुड़े होने के मिल रहे हैं पुलिस जांच के दौरान बिजली से जुड़े काम के लिए टेंडर दिलाने के नाम पर रूपेश ने तीन चार लोगों से करीब 13 करोड रुपए लिए जाने की बात भी सामने आई है वारदात में 6 अपराधियों के शामिल होने की बात भी सामने आई है! लेकिन घर के निकट पूर्व से घात लगाए अपराधियों की संख्या 2 थी जो घटना को अंजाम देने के लिए पहले से घात लगाए थे एयरपोर्ट से लेकर पुनाइचाक और उनके घर शंकर पथ तक में लगे सभी सीसीटीवी कैमरा को पुलिस की जांच टीम ने खंगालने अपराधियों की कुल संख्या 6 पाई गई है यह सभी 3 बाइक से आए थे यह अपराधी एयरपोर्ट से ही रुपेश के निकलने के साथ थे हर एक बाइक पर दो अपराधी सवार थे इनमें से एक बाइक सवार पर दो अपराधी मेन गली के मोड़ पर ही रुक गया था जबकि दो अलग-अलग बाइक पर चार अपराधी संकट के अंदर गए इनमें से एक बाइक से दो अपराधी रितेश के कार तक गए और बैक टू बैक गोली मारकर फरार हो गए पुलिस की विशेष टीम ने वारदात स्थल और उसके आसपास के टावर लोकेशन को खंगाला टावर के मोबाइल नंबर की पहचान भी की गई इनमें से एक मोबाइल नंबर संदिग्ध पाया गया है जो उत्तर प्रदेश का है सिम कार्ड वोडाफोन कंपनी का नाम और नंबर उत्तर प्रदेश का सिम कार्ड के जरिए गाजीपुर से जुड़ रहा है मोबाइल नंबर का उपयोग करने वाला का पता लगा रही है साथ ही एक टीम के कॉल डिटेल की जांच कर रही है पुलिस के बेगूसराय का भी आया है जिसके होने की बात सामने आई है लड़की को देखा जाता था इन दोनों के बीच के रिश्ते में लगी है एयरपोर्ट से लेकर छपरा के जलालपुर गोपालगंज कर रही है और अपराधियों का सुराग लगाने में जुटी हुई है                                  
                                                  # @@ aaptak.net
                                                 ○ https://g.page/modern-home-way

No comments