Header Ads

बिहार छपरा (गरखा) खुद की मजदूरी मांगने पर पीट-पीटकर मार ही डाला। मृतक मजदूरी कार्ड परिवार चलाता था।

                                                                                                      संजय भारद्वाज
छपरा : इस समय की घटना गरखा थाना से निकल कर सामने आई है। प्राप्त जानकारी के अनुसार मजदूरी मांगने पर उस मजदूर को पीट-पीटकर मार ही डाला। मनोज रावत सरगति गांव के निवासी बताया जाता है। प्राप्त जानकारी के अनुसार मजदूरी के पैसे मांगने को लेकर वाद विवाद में एक मजदूर की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। मिली जानकारी के अनुसार मुंह शहर चोली के ठेकेदारी में काम करने को लेकर पैसे के विवाद में एक मजदूर ने दूसरे को पीट कर घायल कर दिया। जिसकी मौत उपचार करने के क्रम में हो गई। मृतक स्थानीय निवासी स्वर्गीय स्वर्गीय रघुनी रावत का लगभग 24 वर्षीय पुत्र मनोज रावत बताया जाता है। इसकी सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंच कर शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए छपरा सदर हॉस्पिटल भेज दिया गया है। मृतक की पत्नी संगीता देवी ने बताया कि गांव के ही विश्वकर्मा नाम के और रानू रावत ने बीती रात डंडे से पीट-पीटकर उसके पति को गंभीर रूप से जख्मी कर दिया था। उसके बाद घायल अवस्था में उसे सीएचसी गरखा लाया गया जहां डॉक्टरों ने उनकी हालात चिंताजनक बताएं और छपरा सदर अस्पताल रेफर कर दिया। इस मामले में गरखा थाना के थाना अध्यक्ष अमृतेश कुमार ने बताया कि एफ आई आर दर्ज कर ली गई है। अपनी मजदूरी को लेकर दोनों में विवाद हुआ था इस घटना के मामले में विश्वकर्मा और रानू रावत को आरोपी बनाया गया है दोनों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी प्रशासन द्वारा की जा रही है। मनोज रावत मृतक बहुत ही गरीब तबके का था किसी तरह वह मजदूरी कर पत्नी वह बच्चों के लिए दो वक्त के भोजन के लिए कमा पा रहा था। प्राप्त जानकारी के अनुसार मृतक के पत्नी ने बताया की कुछ दिनों से वह काम करके घर चले आते थे और उनकी मजदूरी उनके ठेकेदार के द्वारा पिछले दिनों से मजदूरी करवा कर भी उसे रोजाना पैसा नहीं मिलता था। पैसे मांगने गए तो उसे पैसे के बदले मौत दे दिया। मृतक मनोज रावत के पत्नी के अलावे दो छोटे बच्चे एवं एक गर्भ में है। फिलहाल पुलिस ने dead body को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए छपरा सदर अस्पताल भेज दिया गया जहां पोस्टमार्टम की प्रक्रिया चल रही है।

No comments