Header Ads

DIG-मनु महाराज की केंद्रीय प्रतिनियुक्ति से प्रमंडलवासियों में मायूसी, डर इस बात का कि कहीं क्राइम का ग्राफ न बढ़ जाए

                                  
डीआइजी का नाम सुन कर ही बड़े अपराधियों की सांसे टंग गई थी, अब तीनों जिलों के एसपी को अपनाना होगा सख्त रूख
पुलिस कप्तान यदि अपराधियों में खौंफ व आम लोगों के लिए सहज नहीं हुए तो बढ़ेगी परेशानी, लोग टेंशन में
-संजय भारद्वाज-
ब्यूरो प्रमुख बिहार
कहा जाता है कि जब घर का मुखिया सख्त होता है तो घर का हर कार्य वेलमेंटेंड दिशा में होता है। सारण प्रमंडल में जैसे ही डीआईजी मनु महाराज आए पूरे प्रमंडल यानि तीनों जिले के लोगों में खुशी की लहर दौड़ गयी थी कि अब सारण में अमन-चैन रहेगा। गूंडों की नहीं आम पब्लिक की चलेगी। चोर-बदमाशों, लूटरों की तो खैर नहीं होगी। क्योंकि जिसने बिहार की राजधानी पटना को अपराध मुक्त कर दिया वह सारण के अपराधियों पर जल्द ही लगाम लगा देगा। हुआ भी यही। उनके आगमन के साथ ही तीनों जिलों के अपराधी तो दुरूस्त हुए ही, विभागीय अफसर भी लाइन पर आ गए थे। मनू महराज का खौंफ इतना था कि सिपाही से लेकर थानेदार व अन्य बड़े अफसर भी उनके कोप का भाजन नहीं बनना चाहते थे। क्योंकि मनुमहराज अपनी ड्यूटी ने किसी प्रकार की न तो लापरवाही करते थे और न ही करने देते थे। डीआईजी के पद पर रहने के बावजूद वे प्रमंडल में होने वाली हर घटना पर पैनी नजर रखते थे और उसका समाधान के साथ ही रहस्योदघाटन तक स्थिर नहीं बैठते थे। ऐसा नहीं है कि प्रमंडल अपराध व अपराधियों से मुक्त हो गया, पर अपराध हुए तो अपराध करने वाले अपराधियों की घंटों में ही गिरफतारी भी हुई। लूट आदि के मामलों में तो गिरफ्तारी के साथ ही बरामदगी भी हुई। कुल मिलाकर एक तरफ अपराधियों की धर पकड़ हुई तो दूसरी तरफ थानों को दुरूस्त किया गया। मनु महराज की इसी कार्यशैली से प्रमंडलवासी कायल हो गए। अब जबकि सरकार ने उन्हें केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर लबं समय के लिए भेज दिया है, ऐसे में प्रमंडल के लोगों में एक बार फिर मायूसी छा गयी है। लोग यह कह रहे है कि अब अपराधियों में भय समाप्त हो जाएगा। हालांकि कुछ लोगों का यह भी कहना है कि सारण के एसपी संतोष कुमार समेत तीनों जिले के एसपी अपराधियों पर नकेल कसने के लिए अपने आप में सक्षम हैं। इसका नमूना भी उन्होंने पेश किया है कि किसी भी घटना के महज 24 से 72 घंटे के बीच पता लगाकर कार्रवाई भी की है।

No comments