Header Ads

aap tak.net: मर्डर- महज 5 धुर जमीन के लिए भतीजे ने नींद में सोए होमगार्ड चाचा को पीट पीट कर मार डाला3 महीने से मकान बटवारा के लिए चल रहा था विवाद भतीजे ने कई बार दी थी धमकीपुलिस ने आरोपी भतीजे को किया गिरफ्तार,

                               
महज 5 धुर जमीन व मकान के लिए भतीजे ने अपने चाचा की जान पीट पीट कर ले ली। 
                                   
घटना भगवान बाजार थाना क्षेत्र के बूटी मोर अन्नपूर्णा मंदिर के पास की बताई जाती है।
                                  
 घटना के संबंध में भगवान बाजार थाने से मिली जानकारी के अनुसार होमगार्ड सिपाही सत्यदेव प्रसाद गुरुवार की रात गांधी हाई स्कूल के पास स्थित किराए के मकान मैं खाना खाकर अन्नपूर्णा मंदिर के पास स्थित अपने पैतृक मकान में सोने के लिए आ गए। 
                                   
सुबह में जब सत्यदेव का छोटा बेटा मोहित पापा से बात करने आया तो देखा कि उनके पिता सोए हुए हैं और उनके सिर से खून टपक रहा है, वे बुरी तरह से घायल है। उसने अपनी मां सविता देवी को इसकी जानकारी दी और कहां कि पापा का सिर फूट गया है आप जल्दी आइए और इनको देखिए। सविता देवी जब अपने पति के पास पहुंची और उनको उठाने का प्रयास किया तो पता चला कि वह मौत के गाल में समा चुके थे। इसके बाद परिवार के अन्य सदस्य भी आ गए पुलिस को जानकारी दी गई। 
                                  
मृतक होमगार्ड के जवान सत्यदेव की पत्नी सविता देवी और बेटे अंकित और मोहित का कहना था कि उनके पिता की हत्या मकान और जमीन के विवाद में की गई है जिस मकान में पिता सोने आए थे उसके ऊपर मंजिला पर बड़े चाचा रहते हैं और उनसे पिछले 3 महीने से मकान बटवारा को लेकर विवाद चल रहा था उनके बेटे अनिल के द्वारा जान मारने की धमकी दी जा रही थी उन्हें पूरा विश्वास है कि उनके पिता की हत्या अनिल कुमार और उनके घर वालों ने ही की है अंकित ने बताया यदि वे गिरे होते तो कई दांत नहीं टूटे होते सिर पर कई जगह चोट नहीं होती और कई ऐसे साथ हैं जिसे पता चलता है कि उनकी हत्या की गई है।
-रहस्यमई मौत से पुलिस भी आश्चर्यचकित, पहले दिन कोई ठोस सुराग हाथ नहीं लगा
घटना की सूचना मिलने के बाद मौके पर भगवान बाजार थाना अध्यक्ष मुकेश कुमार झा समेत अन्य पुलिस पदाधिकारी पहुंचे उन्होंने घटनास्थल और घर के आसपास के सभी इलाकों की छानबीन की कहीं से भी ऐसा कोई सुराग नहीं मिला जिससे यह पता चल जाए कि घर में कोई बाहरी आया है और उसने इस घटना को अंजाम दिया है। पुलिस को यह पूरी तरह से शक है की घटना को अंजाम घर में ही दिया गया है।
                                  
-पुलिस इन बिंदुओं पर कर रही पड़ताल, पूरे परिवार का मोबाइल हो सकता है जप्त
मौके पर पहुंची पुलिस ने घर के उपरी मंजिल पीछे के बरामदे और घर के हर कोने को तलाशा, पर कहीं पर घटना स्थल को छोर और कहीं पर भी ब्लड के निशान नहीं मिले। 
                                    
पुलिस फिलहाल सत्यदेव के साथियों और परिवार के सदस्यों समेत अन्य लोगों के मोबाइल पर हुए बातचीत को खंगालने में जुटी है। पुलिस सत्यदेव के 24 घंटे के एक्टिविटी को भी नोट कर रही है साथ ही जिसके खिलाफ आरोप लगाया गया है उसके भी हर एक्टिविटी पर नजर गड़ाए हुए हैं। बताया जा रहा है कि परिवार के सदस्यों के साथ कि आरोपी के परिवार वालों के भी मोबाइल पुलिस अपने कब्जे में ले सकती है।
-पुराने मकान में सोने नहीं जाते सत्यदेव तो शायद दीपावली उनके लिए बेहतर होती
पूरे मोहल्ले भी इस बात को लेकर चर्चा है कि सत्यदेव रोज अपने पुराने मकान में सोने नहीं आते थे कभी कभार यहां आते थे यदि गुरुवार को भी यहां नहीं आते तो शायद उनके और उनके परिवार के लिए भी दीपावली व छठ उत्साह वाला होता। पता नहीं क्या मूड में आया कि वे यहीं पर सोने चले आए। जबकि परिवार वालों का कहना है कि वे प्रतिदिन किराए के मकान पर खाना खाने के बाद यहीं पर आकर सो जाते थे।
-6 माह के अंदर घर में दूसरी और 2 साल में तीसरी मौत, झाड़-फूंक भी बना मुद्दा
सत्यदेव की पत्नी सविता देवी ने बताया कि 2 साल में उनके परिवार में यह तीसरी मौत है इसके पहले 6 माह के अंदर वे एक अपने बेटे को भी खो चुकी हैं। उन्होंने बताया कि 2019 में उनके एक बेटे की मौत हुई फिर 2021 के अप्रैल में दूसरे बेटे की मौत हुई और अब उनके पति की हत्या कर दी गई। अपने पहले दो बेटों की मौत का कारण वह झाड़-फूंक बता रही है इसके लिए भी आरोपी के परिवार वाले को ही दोषी ठहरा रही है।
                                
-मोहल्लेवालों ने कहा अनिल हत्यारा नहीं हो सकता
इस हत्या में रहस्यमई बात यह है कि घर में पीट-पीटकर किसी की हत्या हो जाती है और इस घनी आबादी वाले मोहल्ले में बाहर आवाज तक नहीं आती। मोहल्ले वासियों ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि जिसे आरोपी बनाया गया है वह हत्यारा नहीं हो सकता क्योंकि वह बहुत कोमल हृदय वाला युवक है साथ ही व्यवसाई भी है। मोहल्ले वालों ने एक चीज जरूर कहा कि अनिल के सगे संबंधी काफी दबंग है यदि वहां तक बात पहुंची है तो कुछ नहीं कहा जा सकता। 
                                      
-होमगार्ड संघ ने आरोपी के खिलाफ सख्त कार्रवाई और आश्रित को नौकरी देने की मांग की
मौके पर ही गृह रक्षा वाहिनी होमगार्ड संघ के अध्यक्ष और सचिव दीपक कुमार भी पहुंचे उन्होंने आरोपियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की मांग की साथ ही आश्रित को नौकरी देने और मुआवजा देने की मांग जिला प्रशासन से की।
-क्या कहते हैं थानाध्यक्ष
अभी मामले की पड़ताल की जा रही है परिजनों के आरोप पर एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है आगे सघन छानबीन कर मामले का रहस्योद्घाटन कर दिया जाएगा।
मुकेश कुमार झा, थानाध्यक्ष, भगवान बाजार

No comments