Header Ads

aap tak.net:मानसून रिटर्न' की झलक भर से पूरा शहर हुआ कीचड़मय,आम लोगों की परेशानी बढ़ीशहर के कई मुख्य सड़कों-गलियो में जलजमाव, दुकानदारों और फुटपाथियों की सांसे टंगीलगातार बारिश हुई तो दीपावली की खरीदारी व व्यवसाय डूब जाएगा

                                  
संजय भारद्वाज-
ब्यूरो प्रमुख बिहार झारखंड।
छपरा
  मानसून रिटर्न की धमक भर से ही शहरवासियों की सांसे टंग जा रही है। लोगों में भय व्याप्त हो गया है कि कहीं एक बार फिर बारिश लंबी ना खींच जाए। सोमवार को दिन भर बूंदाबांदी क्या हुई यह डर आम लोगों में समा गई । 
                                  
दिनभर की बूंदाबांदी से हैं पूरा शहर कीचड़मय हो गया। लबीं-लबीं बात करने वाले राजनेताओं के खिलाफ लोगों के मन में गुस्सा आसानी से दिखने लगा। 
                                                                पूरा नगरनिगम क्षेत्र नरकनिगम क्षेत्र में परिवर्तित हो गया है। शहर का शायद ही ऐसा कोई वार्ड है जहां की सड़कों पर जलजमाव न हो। वहीं निगम के अधिकारी हैं कि वे कार्यालयों में दुबके हुए हैं। उन्होंने बारिश में शहर में भ्रमण कर समस्याओं का निराकरण करना भी उचित नहीं समझा है। सांसद व अन्य जनप्रतिनिधियों ने कभी भी शहर की सड़कों पर घूमकर लोगों का हाल-चाल नहीं जाना। बस प्रेसवार्ता कर लंबी-लंबी बातें और बड़ी-बड़ी योजनाओं का ख्वाब जरूरी जरूर दिखाया है।
# शहर की सूरत बिगड़ी
थोड़ी देर के ही बारिश में निगम क्षेत्र के सभी वार्ड और उनकी गलियां डूब चुकी हैं। स्थिति यह है कि लोग घरों से बाहर तक नहीं निकल पा रहे हैं। निगम क्षेत्र में कुल 45 वार्ड हैं, पर ऐसा एक भी वार्ड नहीं है जहां की सड़कों पर नालें का पानी उफन कर नहीं बह रहा है। हर गली-मोहल्ले डूब चुके हैं। 
# घर से शहर में निकलना मुश्किल
पहले ही नगरनिगम अपने सफाईकार्य में फेल रहा है। अभी तक की स्थिति यह है कि हर सड़क पर कचरा जमा था, बारिश होने के बाद ये कचरा सड़कों पर पसर गया है। ऐसे में सड़क कीचड़ में तब्दील हो चुके हैं। मुख्य रूप से जिन सड़कों की बदतर हालत है उनमें गुदरी बाजार, सरकारी बाजार, करीमचक, साढ़ा ढाला रोड आदि शामिल हैं।
# डबल डेकर या विकास ब्रेकर
शहर में जो एक-दो सड़के दुरूस्त थी और जिनसे होकर घर पहुंचा जा सकता था उनको डबलडेकर निर्माण करने वालों ने बर्बाद कर दिया है। उन सड़कों पर तेजी से निर्माण कार्य हो रहा है। सड़कों पर निर्माण मशीन खड़े कर दिए गए हैं। निर्माण कार्य के लिए खोदे गए गड़्ढे के मिट्‌टी सड़कों पर कीचड़ में तब्दील हो चुके हैं। इससे आम लोगों में अधिक नाराजगी हो गयी है। इसकी मिट्‌टी बहकर नालों को भी जाम कर दिया है। यह नगरनिगम के लिए पेशानी पर बल ला दिया है।
-सिटी मैनेजर बोलें-
थोड़ी सी बारिश हुई है। जहां भी जलजमाव है उसे दूर किया जा रहा है। 150 कर्मियों को विशेष सफाई अभियान में लगाया गया है। जल्द ही सबकुछ दुरूस्त हो जाएगा।
आशिफ सेराज,सिटी मैनेजर, नगर निगम, छपरा

No comments